Site icon Alert 24

Lakhpati Didi : क्या हैं लखपति दीदी योजना, और महिलाओं को कैसे मिलेगा इससे लाभ।

Lakhpati Didi : क्या हैं लखपति दीदी योजना, और महिलाओं को कैसे मिलेगा इससे लाभ।

सोमवार को (1 फरवरी 2024) केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में अपना एक अद्भुत बजट प्रस्तुत किया। इस अद्वितीय बजट में, विशेषकर महिलाओं के लिए कई महत्वपूर्ण घोषणाएं शामिल हैं। सीतारमण ने ‘लखपति दीदी योजना’ को भी बजट में समाहित किया है। यह उत्कृष्ट योजना, महिला सशक्तिकरण को प्रोत्साहित करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई है।

इस अंतरिम बजट में, जिसमें नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने हिस्सा लिया है, ‘लखपति दीदी योजना’ का लक्ष्य 2 करोड़ से बढ़ाकर 3 करोड़ करने का निर्णय किया गया है। सीतारमण ने बताया कि अब तक एक करोड़ महिलाओं को लखपति दीदी बनाया गया है, और इसे और बढ़ावा देने के लिए 3 करोड़ का लक्ष्य रखा गया है।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि महिला-केंद्रित योजनाओं के माध्यम से अब तक करीब 9 करोड़ महिलाओं को उनके जीवन में सकारात्मक बदलाव आया है। बजट भाषण की शुरुआत में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने भी लखपति दीदी योजना का समर्थन किया और कहा कि मोदी सरकार ने 2 करोड़ महिलाओं को लखपति दीदी बनाने के लिए सकारात्मक पहल की है, और इसे 3 करोड़ तक बढ़ाने का निर्णय स्वीकृत किया गया है।

लखपति दीदी योजना क्या है?

यह योजना महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से रची गई है और इसका मुख्य लक्ष्य महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना है। लखपति दीदी योजना के अंतर्गत, महिलाओं को विभिन्न क्षेत्रों में उद्यमिता की शिक्षा और समर्थन प्रदान किया जाता है, जिससे उन्हें स्वयं को संभालने का निर्णय लेने में मदद मिलती है। इसके माध्यम से, उन्हें विभिन्न आर्थिक क्षेत्रों में स्वयं का मुद्दा बनने का अवसर मिलता है।

योजना के अंतर्गत, सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं और ऋण सुविधाओं की प्रदान की जाती है जो महिलाओं को उद्यमिता की दिशा में आगे बढ़ने में मदद करते हैं। इससे महिलाएं न केवल अपने परिवार का सामृद्धि सुनिश्चित कर सकती हैं, बल्कि समाज में भी अपनी भूमिका में सकारात्मक परिवर्तन ला सकती हैं।

लखपति दीदी योजना एक सकारात्मक कदम है जो महिलाओं को आत्मनिर्भरता की दिशा में मुखरित करने का प्रयास कर रहा है और इससे समृद्धि और समाज में सामंजस्य बढ़ाने का उद्देश्य है।

लखपति दीदी कौन हो सकती हैं?

भारत में लगभग 83 लाख महिला स्वयंसहायता समूह हैं, जिनमें लगभग 9 करोड़ महिलाएं सहयोग कर रही हैं, जो स्वतंत्रता और स्वावलंबन में सक्षम हैं। सरकार ने इन स्वयंसहायता समूहों के साथ जुड़ी महिलाओं की आय बढ़ाने के लिए ‘लखपति दीदी योजना’ की शुरुआत की है। अब तक, इस योजना से लाभान्वित होने वाली एक करोड़ महिलाएं हैं। ‘लखपति दीदी’ एक ऐसी उपाधि है जो उन महिलाओं को प्राप्त होती है, जिनके परिवार की वार्षिक आय कम से कम 1 लाख रुपए होती है।

और पढ़े: क्या एस्पिरेंट्स वेब सीरीज वाले – संदीप भैयाअसल जिंदगी में भी सिगरेट पीते हैं

लखपति दीदी योजना के लाभ:

लखपति दीदी योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई एक अद्वितीय योजना है। इस कार्यक्रम के अंतर्गत, सरकार द्वारा महिला स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी महिलाओं को विभिन्न प्रकार की सहायता प्रदान की जाती है, जैसे कि वित्तीय सहायता और कौशल प्रशिक्षण। इससे उन्हें विभिन्न क्षेत्रों में कौशल विकसित करने का अवसर मिलता है, जिससे वे अपनी आय को बढ़ा सकती हैं। इस योजना के तहत, वीमेन सेल्फ हेल्प ग्रुप्स को विभिन्न कौशलों में प्रशिक्षण दिया जाता है, जैसे कि LED बल्ब बनाना, प्लंबिंग, और ड्रोन रिपेयरिंग, जो उनकी आय में सुधार करने में मदद करता है। इसके परिणामस्वरूप, वे अपने पैसे में वृद्धि करके खुद को एक लखपति बनाने की संभावना पा सकती हैं।

इस योजना के माध्यम से, महिलाओं को होगा लाभ:

लखपति दीदी योजना के अंतर्गत, महिलाओं को विभिन्न प्रकार के कौशल सिखाए जाते हैं। उनकी आर्थिक समझ को मजबूत करने के लिए विभिन्न वर्कशॉप्स आयोजित किए जाते हैं, जिनसे उन्हें सेविंग्स के ऑप्शन, छोटे लोन, व्यावासायिक प्रशिक्षण, उद्यमिता समर्थन और बीमा कवरेज का लाभ होता है। सरकार भी उन्हें बेहतर बाजार समर्थन प्रदान करती है, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार होता है। इस योजना के लाभ को प्राप्त करने के लिए, महिलाओं को स्वयं सहायता समूह का हिस्सा बनना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

Exit mobile version